July 5, 2022

Sher-E-Saahir

मेरी कलम से आपके दिल तक का एक सफर…

चार साँसे बचा कर रखी हैं Chaar Saanse Bacha Kar Rakhi Hain

Chaar Saanse Bacha Kar Rakhi Hain …. In English

Bas Chale Aao Chaukhat Pe Apni,
Ke tamaasha bahut ban chuka hai.

 

Chaar saanse bacha kar rakhi hain,
               Sajadon mein bichha kar rakhi hain,
Ek tu hai ki sab jaan kar bhi,
               Jaane kyun bekhabar ban chuka hai.

 

Bas Chale Aao Chaukhat Pe Apni,
ke tamaasha bahut ban chuka hai.

Chaar saanse bacha kar rakhi hain

 

चार साँसे बचा कर रखी हैं …. In Hindi

बस चले आओ चौखट पे अपनी,
के तमाशा बहुत बन चुका है |

 

“चार साँसे बचा कर रखी हैं,
            सजदों में बिछा कर रखी हैं |
एक तू है कि सब जान कर भी,
            जाने क्यूँ बेखबर बन चुका है ||”

 

बस चले आओ चौखट पे अपनी,
के तमाशा बहुत बन चुका है |

 

Read More:- इस अधूरी मोहब्बत का क्या फ़ायदा Is Adhoori Mohabbat Ka Kya Faayda

Read More:- मुझ सा कोई मिलेगा न तू जान ले Mujh Sa Koi Milega Na Tu Jaan Le

Read More:- सबका कोई हो मेरा धर्म तुम ही हो Sabka Koi Ho Mera Dharm Tum Hi Ho

Read More:- इस अधूरी मोहब्बत का क्या फ़ायदा Is Adhoori Mohabbat Ka Kya Faayda

Read More:-  तुम जो अपने हो और हम तुम्हारे सनम Tum Jo Apne Ho Aur Hum Tumhare Sanam

 

ध्यान दें :-

दोस्तों अगर आपको ये पंक्तिया पसंद आयीं तो पूरी ग़ज़ल के लिए मेरे YouTube channel Sher-E-Saahir को देखें और Subscribe करें | 

नीचे दिए गए Facebook और Whatsapp बटन के माध्यम से आप इसे  Share भी कर सकते हैं जिसे की दूसरे लोग भी इसका आनन्द उठा सकें |

यदि आपको इसी तरह की नयी ग़ज़लें, शायरी और कवितायेँ रोज़ चाहियें तो आप नीचे दिए गए Bell icon पर Click कर सकते हैं और पा सकते हैं |