July 5, 2022

Sher-E-Saahir

मेरी कलम से आपके दिल तक का एक सफर…

तुमने तो तंज़ दिया बिख़रे हुए गुलशन Tumne To Tanj Diya Bikhre huye gulshan

Tumne To Tanj Diya Bikhre Huye Gulshan …. In English

Aati hain naseebon mein,
Kuch neyamatein ba mushkil,
Har mausam aayein jo,
saugaat nahin hain hum.

Tumne To Tanj Diya Bikhre Huye Gulshan

Tumne to tanj diya,
          Bikhre huye gulshan ka,
Juda jo huye tumse,
          Aabaad nahin hain hum.

 

Aati hain naseebon mein,
Kuch neyamatein ba mushkil,
Har mausam aayein jo,
saugaat nahin hain hum.

 

 

 

तुमने तो तंज़ दिया बिख़रे हुए गुलशन ….. In Hindi

आती हैं नसीबों में,
कुछ नेयमतें बा मुश्किल |
हर मौसम आयें जो,
सौगात नहीं हैं हम ||

 

” तुमने तो तंज़ दिया,
          बिख़रे हुए गुलशन का |
जुदा जो हुए तुमसे,
         आबाद नहीं हैं हम || “

 

आती हैं नसीबों में,
कुछ नेयमतें बा मुश्किल |
हर मौसम आयें जो,
सौगात नहीं हैं हम ||

 

Tumne To Tanj Diya Bikhre huye gulshan

Read More:- इस अधूरी मोहब्बत का क्या फ़ायदा Is Adhoori Mohabbat Ka Kya Faayda

Read More:- मुझ सा कोई मिलेगा न तू जान ले Mujh Sa Koi Milega Na Tu Jaan Le

Read More:-   Tum Jo Apne Ho Aur Hum Tumhare Sanam तुम जो अपने हो और हम तुम्हारे सनम

Read More:- सबका कोई हो मेरा धर्म तुम ही हो Sabka Koi Ho Mera Dharm Tum Hi Ho

Read More:- इस अधूरी मोहब्बत का क्या फ़ायदा Is Adhoori Mohabbat Ka Kya Faayda

Read More:-  तुम जो अपने हो और हम तुम्हारे सनम Tum Jo Apne Ho Aur Hum Tumhare Sanam

 

ध्यान दें :-

दोस्तों अगर आपको ये पंक्तिया पसंद आयीं तो पूरी ग़ज़ल के लिए मेरे YouTube channel Sher-E-Saahir को देखें और Subscribe करें | 

नीचे दिए गए Facebook और Whatsapp बटन के माध्यम से आप इसे  Share भी कर सकते हैं जिसे की दूसरे लोग भी इसका आनन्द उठा सकें |

यदि आपको इसी तरह की नयी ग़ज़लें, शायरी और कवितायेँ रोज़ चाहियें तो आप नीचे दिए गए Bell icon पर Click कर सकते हैं और पा सकते हैं |